Breaking News

जोबट उपचुनाव : रावत परिवार को भाजपा में शामिल करने के बाद दिए थे टिकट देने के संकेत, स्थानीय कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा।

स्थानीय नेता नाराज, कहा- कांग्रेस से आये को टिकट और जमीन पर काम करने वालों को निराशा?

जोबट। मप्र (शाहनवाज शेख) मध्य प्रदेश में उपचुनाव होने वाली सीटों में एक आदिवासी बाहुल्य सीट जोबट भी शामिल है, कांग्रेस बीजेपी दोनों पार्टी अपने उम्मीदवार तय करने में विचार कर रही है। बीते दिनों कांग्रेस की जोबट सीट से पूर्व विधायक सलोचना रावत और बेटे विशाल रावत के भाजपा में शामिल होने के बाद पार्टी ने उम्मीदवार बनाने के संकेत दिए थे। जिसके बाद स्थानीय नेताओं ने हंगामा शुरू कर दिया। बीते दिन वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में कई नेताओं ने इस्तीफे सौंप दिये। नारेबाजी के साथ स्थानीय भाजपा नेताओं ने कहा कि अब कांग्रेस से आए लोगों को भाजपा पार्टी टिकट देने के विचार कर रही है और जो कार्यकर्ता जमीनी स्तर पर कार्य कर रहा है उसे निराशा मिलने के संकेत मिल रहे हैं। कार्यकर्ताओं ने कहा कि अगर ऐसा हुआ तो सभी मिलकर इस्तीफे देना शुरू कर देंगे। 

भाजपा सरकार में मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा और अनुसूचित जनजाति के प्रदेश अध्यक्ष कल सिंह भाभर के जोबट विधानसभा पहुंचने पर नेताओं ने काफी हंगामा किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि पार्टी जमीनी कार्यकर्ताओं को दरकिनार कर रही है और कांग्रेस से आये लोगों को टिकट देने की बात चल रही है, ऐसे में कोई भी कार्यकर्ता पार्टी के लिए काम नहीं कर पाएगा एवं अपने इस्तीफे देने की कगार पर खड़ा रहेगा।

आपको बता दें कि जोबट विधानसभा सीट पर वर्तमान में देखने को मिल रही भाजपा की आपसी फूट एक चिंगारी पैदा कर रही है। जो विपक्ष को फायदा पहुंचा सकती है। अगर स्थानीय उम्मीदवारों को संतुष्ट नहीं किया गया तो बगावत के सुर पार्टी को कमजोरी प्रदान करेंगे।

वहीं कांग्रेस और जयस के नेताओं की भी दुख दुखी बनी हुई है, कि किस नाम की घोषणा की जाएगी। दावेदारी करने वालों के नाम भी कम नहीं है। उधर जयस के राष्ट्रीय संरक्षक एवं मनावर विधायक डॉ हीरालाल अलावा ने भी बताया कि कांग्रेस पार्टी आलाकमान द्वारा 5 अक्टूबर तक उम्मीदवार का नाम तय करने के आसार दिख रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button