Breaking News

ठगा ठगा सा महसूस कर रही है मनावर की जनता, नपा अध्यक्ष तो ठीक अब सीएमओ बने विकास कार्यों में रोड़ा

 

परिषद की बैठक में सर्व सहमति से लिया गया निर्णय

मनावर:- (शाहनवाज शेख) आज दोपहर 12 बजे नगर पालिका परिषद में मुख्य नगरपालिका अधिकारी मनावर प्रदीप कुमार शर्मा की कार्यशैली पर चर्चा एवं स्थानांतरण के संबंध में बैठक रखी गई। जिसमें यह प्रकरण प्रस्तुत हुआ कि वर्तमान मुख्य नगर पालिका अधिकारी प्रदीप कुमार शर्मा की कार्यशैली नगर विकास के हित में नहीं है। प्रदीप कुमार शर्मा के विरोध में आए दिन निकाय के कर्मचारियों व नगर की जनता लगातार शिकायत कर रही है। जिसके कारण परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। नगर में साफ सफाई व्यवस्था एवं अन्य कार्यों जैसे भवन निर्माण अनुमति, नामांतरण, नल कनेक्शन एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के संबंध में आम जनता एवं जनप्रतिनिधियों से चर्चा करने के बाद सीएमओ शर्मा पुनः बात से बदल जाते हैं। जिससे आम जनता एवं अन्य जनप्रतिनिधि ठगे हुए महसूस कर रहे हैं। 

इस संबंध में जनप्रतिनिधियों को आए दिन आम जनता द्वारा शिकायतें भी की जा रही है। नगर हित में विकास कार्य नहीं होने से जनप्रतिनिधियों द्वारा मुख्य नगरपालिका अधिकारी के विरुद्ध एवं विकास कार्यों के मुद्दे को लेकर कुछ दिन पूर्व आंदोलन भी किया गया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार मुख्य नगरपालिका अधिकारी मनावर प्रदीप कुमार शर्मा के द्वारा कई बार जनप्रतिनिधियों को कहा जाता है कि उनकी पहुंच बहुत ऊपर तक है। मनावर परिषद के लोग उनका कुछ नहीं कर सकते है। जिसका कारण परिषद इकाई इन की कार्यशैली से संतुष्ट नहीं है। परिषद ने पत्र में लिखित रूप कहा है कि इनका स्थानांतरण नहीं किया जाता है तो नगर पालिका परिषद के सभी पार्षद एवं अध्यक्ष इस्तीफा देंगे और आंदोलन करेंगे। 

बैठक में बताया कि उनकी कार्यशैली के कारण विकास कार्य हो पाना संभव नहीं है। उक्त समस्याओं को दृष्टिगत रखते हुए परिषद के 10 पार्षदों एवं अध्यक्ष संगीता पति शिवराम पाटीदार ने सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया कि मुख्य नगरपालिका अधिकारी मनावर प्रदीप कुमार शर्मा के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करने एवं अन्य निकाय में स्थानांतरण का निर्णय किया गया है। उपरोक्त बिंदुओं को बैठक रखते हुए परिषद के द्वारा मुख्य नगरपालिका अधिकारी प्रदीप कुमार शर्मा के विरुद्ध निंदा प्रस्ताव को पारित करने का सर्व सहमति से निर्णय लिया गया है। समस्त कार्रवाई हेतु अध्यक्ष नगर पालिका परिषद मनावर को अधिकृत किया गया है

ज्ञात हो कि मनावर में अन्य शहरों और नगरों की तुलना में विकास कार्यों में कमी रही है, विकास का अभाव है ऐसे में नगर पालिका अध्यक्ष, जनप्रतिनिधियों तथा सीएमओ के आपस में बिगड़े संबंध विकास कार्यों में रोड़ा डाल रहे हैं। नगर की जनता उनकी लड़ाई में खुद को ठगा ठगा सा महसूस कर रही है। नगर पालिका में कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष को बैठे लगभग 4 वर्ष होने को है, इन 4 वर्षों में कई सीएमओ आए और गए हैं लेकिन विकास कार्यों के मुद्दों को किसी ने हल नहीं किया। ऐसे में नगर की जनता नगर के मुद्दों एवं समस्याओं को लेकर जाए तो जाए कहां ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button