Breaking News

शहीदों के सम्मान में 75 किमी. साइकिल यात्रा को मिला क्षेत्रवासियों का अपार स्नेह व समथर्न : सांसद रमेश बिधूड़ी

 

नई दिल्ली:- (मोमना बेगम) दक्षिणी दिल्ली सांसद श्री रमेश बिधूड़ी ने महात्मा गांधी जयंती को महरौली जिले में 75 कि0मी0 साइकिल यात्रा पूणर् करने के बाद आज दूसरे दिन दक्षिण जिले में 75 वर्ष अमृत महोत्सव पर 75 कि0मी0 की साइकिल तिरंगा यात्रा शहीद भगत सिंह चैक जैतपुर गाॅंव (बदरपुर विधान सभा) में प्रातः 8ः00 बजे शहीद भगत सिंह जी की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता एवं भाजपा कार्यकर्ताओ के साथ प्रारंभ की। 

 

यह यात्रा बदरपुर विधान सभा क्षेत्र से तुगलकाबाद विधान सभा, कालकाजी विधान सभा व संगम विहार विधान होते हुए देवली विधान सभा पहॅुची जहाॅं सांगवान बारात घर बांध रोड़ देवली में यात्रा का समापन किया गया। यात्रा मागर् पर जगह-जगह क्षेत्रवासियों ने अपने पूणर् हषोर्ल्लास के साथ सांसद बिधूड़ी को फूल-मालाएं पहनाकर व पुष्प वषार् कर यात्रा का स्वागत किया।        

 

इस अवसर पर रमेश बिधूड़ी ने कहा कि हम भारत वासियों का यह सौभाग्य है कि हमें देश के प्रधानमंत्री के रूप में श्री नरेन्द्र मोदी जी का नेतृत्व मिला है। बिधूड़ी ने बताया कि आजादी के 65 साल तक ऐसा माहौल बनाने की कोशिश की जाती रही कि एक ही परिवार व एक ही खानदान ने इस देश को स्वतंत्रता दिलाई। देश के हजारों शहीद वीर जवानों की कुबार्नियों को याद तक नहीं किया गया जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया, जो अपने घर, परिवार, बच्चों की परवाह किए बगैर हजारों मिल दूर सरहदों पर देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गए। लेकिन देश के यशस्वी प्रधानमंत्री जी ने दिल्ली में इंडिया गेट पर शहीदों को सम्मानित करने के लिए नेशनल वाॅर मेमोरियल बनवाने का काम किया, जिससे कि राष्ट्र के लिए उनकी कुबार्नियों को सदैव याद किया जाता रहे। प्रधानमंत्री जी के आग्रह अनुसार सभी सांसद गली-गली जाकर शहीदों को श्रद्धांजलि देने व उन्हें नमन करने और उनके परिवारों को सम्मान देने के लिए यह साइकिल यात्रा निकाली जा रहीं है और आजादी के 75 वषर् को अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। बिधूड़ी ने कहा कि निश्चित रूप से हम ऋणी हैं उन शहीद वीर सेनानियों के जिन्होंने अपना जीवन का बलिदान देकर इस देश में लोकतंत्र बहाल कराया। जिससे आज देश के नागरिक अपनी इच्छा से क्षेत्र का प्रतिनिधि चुनते हैं, अपनी समस्या का समाधान करवाते हैं, तभी  एक गरीब का बेटा इस देश के प्रधानमंत्री बनकर एक सेवक के रूप में गरीब, मजदूर, किसान, दलित, वंचित, कमजोर वगर् की चिंताओं का समाधान व उनकी आवश्यकताओं की पूतिर् कर रहे हैं और उनके मजबूत नेतृत्व में आज भारत सशक्त व आत्मनिभर्र बन रहा है।         

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button