Breaking News

फरीदाबाद 27 सितंबर तीन कृषि कानूनों के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर आज के भारत बंद के समर्थन में जॉइंट ट्रेड यूनियन काउंसिल फरीदाबाद के बैनर तले विभिन्न यूनियनों के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने आज सोमवार को लघु सचिवालय के सम्मुख जोरदार प्रदर्शन किया।

 

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जॉइट ट्रेड यूनियन काउंसिल फरीदाबाद के कार्यकर्ता आज  सेक्टर 12 स्थित ओपन एयर थिएटर में एकत्रित होने शुरू हो गए थे। यहां पर एक विशाल जनसभा हुई। इसकी अध्यक्षता एटक  के बिशंबर सिंह, सीटू के निरंतर पराशर, हिंद मजदूर सभा के  के आरडी यादव, इंटक के श्याम बाबू आईसीटी यू के नेता पूरनलाल ने संयुक्त रूप से की। जबकि संचालन कन्वीनर लालबाबू शर्मा ने किया। उपस्थित जन समुदाय को संबोधित करते हुए एट क के महासचिव बेचू गिरी ने केंद्र सरकार पर किसानों की मांगों की अनदेखी करने का आरोप लगाया। उन्होंन सरकार से टालमटोल का रास्ता छोड़कर किसानों की  मांगों को पूरा करने की मांग की। लोगों को संबोधित करते हुए सीटू के जिला उपाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह डंगवाल ने बताया कि जब तक तीनों काले कृषि कानूनों को केंद्र सरकार रद्द नहीं करती है। तब तक किसानों एवम्  मजदूरों का आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि सरकार को अड़ियल रवैया छोड़कर बातचीत का रास्ता खोलना चाहिए। इससे पहले देश की सर्वोच्च अदालत ने भी सरकार से किसानों की मांगों को बातचीत के रास्ते से सुलझाने के लिए कहा था। लेकिन सरकार 10 माह से चल रहे किसानों की मांगों की घोर उपेक्षा कर रही है। अब तक लगभग 700 किसान शहीद हो चुके हैं। इस सभा को हिंद मजदूर सभा के नेता राजपाल सिंह दांगी ने भी संबोधित किया। उन्होंने किसानों की उत्पादन के लिए मंडी व्यवस्था बनाए रखने और उनकी जींस का न्यूनतम समर्थन मूल्य को लागू करने की मांग की। सभा में अपने विचार रखते हुए इंटक के जिला प्रधान हुकुमचंद बेनीवाल और आईसीटी यूके कामरेड जवाहरलाल ने भी किसान आंदोलन को भरपूर समर्थन देने का ऐलान किया। सभा को महिला नेत्री सरोज और आगनबाड़ी वर्कर और हेल्पर यूनियन की राज्य प्रधान देवेंद्र री शर्मा ने भी संबोधित किया। इस सभा के बाद कर्मचारी,  मजदूरों और स्कीम वर्करों ने रैली निकाली और नारे लगाते हुए उपायुक्त कार्यालय के सम्मुख पहुंचे। प्रदर्शनकारी तीनों कृषि कानूनों को रद्द करो, न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू करो, बढ़ती हुई महंगाई पर रोक लगाओ, डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस, सरसों के तेल की मूल्य वृद्धि वापस लो के नारे लगा रहे थे। प्रदर्शन के फौरन बाद देश के महामहिम राष्ट्रपति के नाम 12 सूत्री मांगों का ज्ञापन उपायुक्त कार्यालय के अधीक्षक कुंदन लाल को सौंपा गया। इस सभा को कामरेड शिवप्रसाद, एटक के मिथिलेश कुमार, सीटू के विजय झा, ग्रामीण सफाई कर्मचारी यूनियन के राज्य प्रधान देवी राम जिला प्रधान महेंद्र सिंह जिला सचिव दिनेश पाली, कमलेश, मालवती, आईसीसीयू की नेता सरोज ने भी संबोधित किया। समापन से पहले अध्यक्ष मंडल के सदस्य कामरेड विशंभर सिंह ने फरीदाबाद, पुलिस प्रशासन, पर सर्व कर्मचारी संघ के राज्य प्रधान श्री सुभाष लांबा के घर पर सीआईए को भेजने की कठोर शब्दों में निंदा करते हुए। चेतावनी भरे लहजे में कहा कि यदि नेताओं के घरों में पुलिस को भेजने की योजना पर रोक नहीं लगाई गई तो जॉइंट ट्रेड यूनियन काउंसिल फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर के कार्यालय पर भी प्रदर्शन करने से भी पीछे नहीं हटेगी।

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button