Breaking News

इंस्पेक्टर हत्याकांड के आरोपी अनुपम दुबे पर रासुका की कार्यवाही

फर्रुखाबाद, 26 सितंबर। जनपद के चर्चित इंस्पेक्टर हत्याकांड के आरोपी अनुपम दुबे पर राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (रासुका) की कार्रवाई कर दी गई है। इंस्पेक्टर फतेहगढ़ ने मैनपुरी जिला जेल पहुंचकर अनुपम दुबे को एनएसए तमिल करा दिया है।

बताते चलें कि, फतेहगढ़ मोहल्ला कसरट्टा निवासी अनुपम दुबे पुत्र स्वर्गीय महेश दुबे वर्तमान में पड़ोसी जिला कन्नौज के कस्बा संलन निवासी ठेकेदार शमीम और पुलिस इंस्पेक्टर रामनिवास यादव हत्याकांड में मैनपुरी की जिला जेल में निरूद्ध है। यह दोनों घटनाएं तकरीबन 20 साल पहले हुई थी। जिनकी पत्रावली को दबा दिया गया था।रेल विभाग की कमान एडीजी पीयूष आनंद के हाथ में आते ही अनुपम दुबे की मुश्किलें बढ़ने लगी। उन्होंने इंस्पेक्टर हत्याकांड की पत्रावली सहित तकरीबन 45 मुकदमे खोल कर प्रदेश शासन से अनुपम दुबे के ऊपर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित करा दिया। पुलिस के बढ़ते दबाव को देखकर अनुपम दुबे शमीम हत्याकांड में फतेहगढ़ न्यायालय में हाजिर हो गए। इसके बाद उन्हें मैनपुरी की जिला जेल में स्थानांतरित कर दिया गया। जेल जाने के बाद अनुपम पर डराने, धमकाने के मुकदमे दर्ज हुए और उनके ऊपर रासुका की कार्यवाही कर दी गई है।बताते चलें कि, अनुपम दुबे बसपा से पड़ोसी जिला हरदोई से विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं। उनके भाई डब्बन दुबे को दो दिन पूर्व पुलिस ने अयोध्या से गिरफ्तार किया और लगातार उनके विरुद्ध मुकदमे दर्ज हो रहे हैं। अनुपम दुबे के परिजन इसको लेकर परेशान हैं।अनुपम इस समय फतेहगढ़ और उनके भाई डब्बन फर्रुखाबाद की जिला जेल में निरुद्ध हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button