Breaking News

एनडीआरएफ ने रात के अँधेरे में लखीमपुर खीरी में चलाया बाढ़ बचाव अभियान, कई जिंदगियों को सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया

लखीमपुर ब्यूरो

लखीमपुर। पिछले दिनों में उत्तराखंड और नेपाल में अत्यधिक वर्षा होने से नदियों और नालों के जलस्तर में वृद्धि हुई है, जिसके चलते उत्तर प्रदेश के नेपाल से लगे हुए जिलों में बाढ़ की स्तिथि उत्पन्न हो गई है I जिसमें राहत व बचाव कार्यों हेतु एनडीआरएफ की टीमें प्रशासन के साथ लगातार राहत बचाव कार्यों में जुटी हुई हैं । दिनांक 20 अक्टूबर, बुधवार देर रात प्रशासन को एक संकटग्रस्त सूचना प्राप्त हुई कि घाघरा नदी के उफान के कारण लखीमपुर के तहसील धौरहरा में देवमानिया गांव के आठ लोग घाघरा नदी के उस पार अपने खेतो में काम करने गए थे, अचानक घाघरा नदी के जलस्तर बढ़ जाने से वह लोग चारो और बाढ़ के पानी से घिर गए, जिससे स्थिति गंभीर बनती जा रही थी और लोगों के जीवन पर खतरा मंडरा रहा था।

बहुत चुनौतीपूर्ण थी स्तिथि

घटना की सूचना प्रशासन द्वारा एनडीआरएफ को दी गई, घटना की सूचना मिलते ही कमांडेंट श्री मनोज कुमार शर्मा के निर्देशन पर धौरहरा में बाढ़ आपदा बचाव हेतु तैनात एनडीआरएफ टीम को श्री नीरज कुमार, उप सेनानायक के नेतृत्व में रवाना किया गया। टीम त्वरित कार्यवाही करते हुए घटनास्थल पर पहुंची, जहां यह देखा गया कि घाघरा नदी का जल प्रवाह बहुत तेज था और कम दृश्यता के साथ रात में बचाव अभियान चलाने के लिए स्थिति बहुत चुनौतीपूर्ण थी।

लेकिन टीम इन तमाम बाधाओ को पार कर मदद का इंतजार कर रहे लोगो के पास पहुंची तो एनडीआरएफ टीम के बचाव कर्मियों को देखकर लोगों में विश्वास का भाव दिखा व टीम ने भी त्वरित कार्यवाही करते हुए बाढ़ में फंसे सभी 08 पुरुष एवं 02 पशुधन को बचाकर मोटर बोट के माध्यम से सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया गया। प्रशासन व स्थानीय लोगों ने एनडीआरएफ के त्वरित कार्यवाही और तत्परता दिखाते हुए बचाव कार्यों की बहुत प्रशंसा की और इस मानव जीवन के साथ पशुधन की रक्षा में की गई सहायता के लिए आभार व्यक्त किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button