Breaking News

हर्षोल्लास के वातावरण में मनाया गया करवा चौथ का त्यौहार

फर्रुखाबाद ब्यूरो आसिफ़ राजा

शमसाबाद फर्रुखाबाद। हिंदू समाज में हर्षोल्लास के वातावरण मनाये जाने वाले करवा चौथ के त्यौहार की पूर्व संध्या पर शमसाबाद बाजार में जमकर खरीदारी। महिलाओं ने बड़े पैमाने पर आवश्यकता की बस्तुओ की खरीदारी की खरीदारी को लेकर विक्रेताओं के चहरे खिले बाजार की सड़कों पर चहल-पहल का माहौल जानकारी के के अनुसार हिंदू समाज में हर्षोल्लास के वातावरण मनाया जाने वाला करवा चौथ का त्यौहार इस त्यौहार पर महिलाएं सोलह सिंगार से सुसज्जित निर्जला व्रत धरण बो भी पति की दीर्घायु की कामनाओं के लिए करती है ताकि उनका ताउम्र जीवन साथी बना रहे इस त्यौहार को हरसोल्लास के माहौल में मनाए जाने के लिए हिंदू समाज के लोगों में एक लंबे समय से तैयारियां चल रही थी धीरे धीरे त्यौहार की नजदीक किया इस कदर आगे बड़ी लोगों को पता ही नहीं चला आखिर कब करवा चौथ का त्यौहार नजदीक आ गया उधर 24 अक्टूबर को मनाए जाने वाले करवा चौथ के त्यौहार को देखते हुए महिलाओं ने पर्व की पूर्व संध्या पर आवश्यकता के सामान की जमकर खरीदारी की करवा चौथ के त्यौहार को लेकर यहां दुकानों से लेकर सड़क के फुटपाथ तक छोटे छोटे छोटे व्यवसायियों द्वारा सजाए के प्रतिष्ठानों को देखा गया यहा बड़े पैमाने पर महिलाओं ने जरूरत के सामान की खरीदारी की बताते हैं सुहाग का प्रतीक करवा चौथ का त्यौहार इस त्योहार पर महिलाएं उपवास के माहौल में व्रत धारण करती हैं कहावत है कि महिलाएं निर्जला व्रत धारण कर तब तक अन्न जल ग्रहण नहीं करती जब तक भगवान चंद्र देव दर्शन नहीं देते सोलह सिंगार से सुसज्जित महिलाएं अपने अपने मकानों की छत पर खड़े होकर भगवान चंद्र देव के उदय होने का इंतजार करती हैं जैसे ही भगवान चंद्र देव के दर्शन महिलाओं को होते हैं वैसे ही महिलाएं पूजा अर्चना को अंजाम देती हैं पूजा अर्चना में चुरा करवा चौथ का कैलेंडर और मिट्टी का पात्र जिसमें पूजा प्रसाद का सामान रखा जाता है जैसे ही सूर्यास्त होते हैं ठीक उसी तरह महिलाओं की तैयारी शुरू हो जाती है ज्यों ज्यों समय गुजर जाता है त्यो त्यो महिलाएं छत पर खड़े होकर भगवान चंद्र देव के दर्शन को उत्साहित होने लगती हैं जैसे ही भगवान चंद्र देव दर्शन देते हैं महिलाएं भगवान चंद्र देव की आराधना करते हुए पूजा अर्चना करती हैं वही जलार्द्ध देने के बाद महिलाएं अपने अपने सुहाग की पूजा अर्चना करती हैं वही पति को मिष्ठान खिलाए जाने के बाद कुछ मिष्ठान उनके हाथों से स्वयं ग्रहण करती है तदोपरांत जल ग्रहण कर उपवास का व्रत तोड़ा करती हैं करवा चौथ पर्व की तैयारियों के मद्देनजर शमशाबाद में जगह-जगह लोगों को मिट्टी के पात्र तथा करवा चौथ के कैलेंडर की बिक्री करते हुए देखा गया के अलावा लोगों को फलों की बिक्री के अलावा कुछ लोगों को मिष्ठान आदि खरीद जारी करते हुए देखा गया करवा चौथ के त्यौहार पर महिलाएं पति की दीर्घायु की कामनाये करते हुए चंद्र दर्शन तक निर्जला व्रत धरण का धारण करती हैं और चंद्र दर्शन के उपरांत ही तोड़ा करती हैं बताते हैं इस पर्व से सर्दी की शुरुआत होती है फिलहाल करवा चौथ पर्व की पूर्व संध्या पर बाजारों में लोगों की भीड़ उमड़ती रही वही दुकानों पर महिलाओं ने जमकर खरीदारी की जिससे व्यवसायियों के चेहरे पर खुशियों के भाव देखे गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button