Breaking News

भाजपा ने महाराष्ट्र और मुंबई फिल्म जगत की छवि खराब करने के लिए केन्द्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किया : नवाब मलिक (मंत्री)

मुंबई : महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने एनसीबी के मुंबई मंडल के निदेशक समीर वानखेड़े के परिवार और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता किरीट सोमैया के बीच मुलाकात पर तंज करते हुए शुक्रवार को कहा कि ”जिन्न बोतल के बाहर आ गया है।” क्रूज पोत मादक पदार्थ मामले में वानखेड़े के खिलाफ आरोपों की झड़ी लगाने वाले मलिक ने भाजपा पर महाराष्ट्र और मुंबई फिल्म उद्योग की छवि खराब करने के लिए केन्द्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग करने का भी आरोप लगाया।

https://twitter.com/nawabmalikncp/status/1453989471863508999?s=20

महाराष्ट्र के मंत्री ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा,” समीर की पत्नी ने मुख्यमंत्री को कल पत्र लिखकर मराठी कार्ड खेलते हुए उनसे सहयोग मांगा था, लेकिन शाम को पूरे परिवार ने भाजपा नेता किरीट सोमैया से मुलाकात की। इसका मतलब है कि जिन्न बोतल के बाहर आ गया है।” उन्होंने कहा,” जब मैं एनसीबी के एक अधिकारी पर धोखाधड़ी में कथित तौर पर शामिल होने का आरोप लगा रहा था तभी मैंने इससे भाजपा के असहज होने पर प्रश्न उठाए थे।” वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर ”अपने परिवार और निजी जीवन पर हमले” की पृष्ठभूमि में उनसे न्याय की गुहार लगाई थी।

https://twitter.com/ANI/status/1453962675189280769?s=20

क्रांति रेडकर, वानखेड़े के पिता और बहन ने गुरुवार को दोपहर सोमैया से मुलाकात की थी। बीजेपी नेता सौमैया ने बाद में परिवार के साथ की एक फोटो ट्वीट करके कहा था कि वे लोग ”नवाब मलिक के हमलों से” परेशान हैं। क्रूज पोत मामले को फर्जी करार दे चुके मलिक ने वानखेड़े पर सरकारी नौकरी पाने के लिए जाली दस्तावेज तैयार कराने और अपने धर्म के संबंध में गलत जानकारी देने का भी आरोप लगाया है। वानखेड़े और उनके परिवार ने इस आरोपों को खारिज किया है। इस पूरे मामले में भाजपा की कथित संलिप्तता के अपने दावे पर विस्तार से जानकारी देते हुए मलिक ने कहा,” आर्यन खान गिरफ्तारी मामले में गवाह (एनसीबी के) किरण गोसावी की भाजपा के एक नेता के साथ कुछ कंपनियों में साझेदारी है।”

मलिक ने कहा,” वह पहले ही उगाही, भष्टाचार और अपहरण के आरोपों का सामना कर रहा है। गोसावी अकेले ही भाजपा के बारे में कई खुलासे कर देगा। मेरे पास और भी धमाकेदार जानकारी है, जिसका मैं राज्य विधानसभा के शीत सत्र में खुलासा करूंगा।” मलिक ने दावा किया कि भाजपा ने महाराष्ट्र और फिल्म जगत को बदनाम करने के लिए केन्द्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किया। उन्होंने कहा,” उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी हिन्दी फिल्म उद्योग को लुभाने की कोशिश की थी और उसे अपने राज्य में स्थानांतरित करने की अपील की थी। बॉलीवुड को वहां स्थानांतरित करा कर क्या योगी वहां यूपीवुड बनाना चाहते हैं।” मंत्री ने कहा,” फिल्म जगत ने लाखों लोगों को रोजगार दिया है। आप उन्हें उत्तर प्रदेश नहीं आने के लिए प्रताडि़त नहीं कर सकते।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button