Breaking News

मध्यप्रदेश : भोपाल के कमला नेहरू बाल चिकित्सालय में आग लगने से 4 बच्चों की मौत, सीएम शिवराज व कमलनाथ ने ट्वीट कर दुख व्यक्त किया

भोपाल : – प्रदेश की राजधानी भोपाल के सरकारी कमला नेहरू बाल चिकित्सालय में सोमवार रात को अस्पताल की तीसरी मंजिल के वार्ड में आग लगने से वहां भर्ती चार बच्चों की मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगना बताया जा रहा है। रात में लगी आग की वजह से रेस्क्यू में भी काफी दिक्कत हुई है। हमीदिया प्रदेश का सबसे बड़ा अस्पताल है। घटना के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने घटना पर ट्वीट करते हुए कहा है कि राजधानी के कमला नेहरू अस्पताल के चाइल्ड वार्ड में आग लगने की घटना दुखद है। इस वार्ड में बचाव कार्य तेजी से जारी है। प्रशासन की टीम और बचाव कर्मी मौके पर हैं। घटना पर मेरी लगातार नजर है। घटना की उच्चस्तरीय जांच के निर्देश दिए हैं। जांच एसीएस लोक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मोहम्मद सुलेमान करेंगे।

अस्पताल के शिशु वार्ड में 40 बच्चे भर्ती थे। वार्ड धुआं निकलते ही लोग भागने लगे। वहां अफरातफरी मच गई। अस्पताल प्रबंधन की तरफ से बच्चों दूसरी जगहों पर शिफ्ट किया जाने लगा। वहां मौजूद लोगों को पता नहीं चल पा रहा था कि हमारे बच्चे कहां गए हैं। आग की लपटें शांत होने के बाद परिजन अपनों की तलाश में लगे थे। घंटों बाद उन्हें बच्चों को बारे में जानकारी दी गई। इसके बाद परिजनों ने राहत की सांस ली।

दरअसल, शुरुआत में तीन बच्चों की दुखद मौत की खबर थी। थोड़ी देर बार चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि अब मृतक बच्चों की संख्या 4 हो गई है। रात के 8.40 बजे अस्पताल के कर्मियों ने कंट्रोल रूम को आग लगने की सूचना दी थी। इसके बाद करीब एक दर्जन भर फायर ब्रिगेड की गाड़ियां अस्पताल परिसर में पहुंच गईं। इसके साथ ही कोहेफिजा पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंच गए।

सूत्रों ने बताया कि अस्पताल में आग लगने के बाद पावर कट हो गया था। मगर तुरंत कोई बैकअप नहीं मिला। बिल्डिंग से धुआं निकल रहा था। इस दौरान बच्चों के परिजन इधर-उधर भाग रहे थे। साथ ही पुलिसकर्मियों से अपील कर रहे थे कि बच्चों को देखने अंदर जाने दिया जाए।

एसपी नॉर्थ विजय खत्री ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि घटना की जानकारी लगते ही फतेहगढ़, बैरागढ़ और शहजहांबाद स्टेशन से करीब 25 फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंच गई। पीकू वार्ड से बच्चों को जल्दी में दूसरी जगह शिफ्ट किया गया। वहीं, धुएं की वजह से कुछ कर्मियों की तबीयत भी बिगड़ी थी।

कमलनाथ ने दुख व्यक्त किया

वहीं, हादसे के बाद इसे लेकर राजनीति भी तेज हो गई है। पूर्व सीएम कमलनाथ ने इसे लेकर कहा है कि एमपी की राजधानी भोपाल के कमला नेहरू अस्पताल के चिल्ड्रन वार्ड में आग लगने की घटना बेहद दुखद है। सरकार बचाव और राहत कार्य के सभी आवश्यक इंतजाम करें। इस दुखद घटना के बाद से भर्ती बच्चों के परिजन बेहाल है। सरकार भर्ती बच्चों के अन्य अस्पतालों में इलाज की समुचित व्यवस्था करे। इस पूरी घटना की उच्च स्तरीय जांच हो, जिम्मेदार दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई हो nbt

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button