Breaking News

जैन सर की क्लास में बच्चों ने सवाल जवाब के बीच जानी कोरोना की एबीसी

संदेश वाहक के रूप में आप लोग घर-परिवार के बीच जाएंगे। इसलिए वैक्सीनेशन के महत्व के बारे में बताया है बोले कलेक्टर डॉ जैन

मनावर। धार (शाहनवाज शेख) :- हमारी जवाबदेही है कि कोरोना से बचाव हेतु वैक्सीन लगाकर समाज और जिले को  कोरोना से सुरक्षित से सुरक्षित करें। वैक्सीन हमारे लिए क्यों जरूरी विषयक जागरूकता कार्यक्रम में पहुंचे Collector Dhar डॉ पंकज जैन ने यह बात छात्र छात्राओं से कही। पत्रिका द्वारा स्थानीय उत्कृष्ट विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में कलेक्टर चुनिंदा छात्र छात्राओं से बात कर रहे थे,लेकिन मुखातिब समूचे जिले के बच्चों से थे।ज्ञात रहे कि कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को गति देने और जनता में इसके प्रति जागरूक करने के लिए स्कूली बच्चों को भी जोड़ा जा रहा है। संबोधन में कलेक्टर डॉ. जैन ने छात्रों को वैक्सीन की महत्ता बताई। शुरूआत में कोरोना वायरस से संबंधित कॉमन सवाल किए, जैसे वायरस का नाम और उसके प्रकार के बारे में पूछा। कलेक्टर डॉ. जैन ने कोरोना वायरस का साइंटिफिक नाम भी छात्रों को बताया। छात्रों के नॉलेज के लिए कई तरह की जानकारियां कलेक्टर डॉ. जैन ने साझा की। जागरूकता कार्यक्रम के महत्व को समझाते हुए बताया कि एक संदेश वाहक के रूप में आप लोग घर-परिवार के बीच जाएंगे। इसलिए वैक्सीनेशन के महत्व के बारे में बताया जा रहा है।

कलेक्टर डॉ. जैन ने छात्रों से वैक्सीन के बारे में प्रश्न किए। कितने प्रकार की वैक्सीन देश में है और उसके डोज लगाने व उसके अंतराल को लेकर जवाब देने के लिए छात्र सौम्य सावंत को खड़ा किया। सावंत ने कलेक्टर डॉ. जैन ने सवालों के जवाब देते हुए वैक्सीन के प्रकार और पहले और दूसरे डोज लगवाने के बीच की अवधि के बारे में बताया। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सबसे जरूरी कोविड प्रोटोकॉल और वैक्सीन को लेकर वर्तमान में लोग बेपरवाह हो रहे है। न तो मास्क जरूरी समझ रहे है और न ही वैक्सीन लगाने को लेकर अपनी जिम्मेदारी समझ रहे है। यही कारण है कि जिले में पौने तीन लाख लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज लगाना ड्यू है। इस आंकड़ों को शून्य करने के लिए शासन-प्रशासन के साथ पत्रिका ने अपनी सामाजिक जिम्मेदारी को समझते हुए वैक्सीन हमारे लिए जरूरी क्यों विषय पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया है। कलेक्टर डॉ. जैन ने कार्यक्रम में भविष्य में कोरोना के खतरे की आशंका को देखते हुए सावधानी और सतर्कता बरतने पर जोर दिया। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की सलाह दी। उन्होंने पहली और दूसरी लहर की भयावहता के बारे में बताया। खासतौर पर दूसरी लहर के बाद बने हालातों का जिक्र करते हुए भविष्य में इस तरह के हालात न बने इसलिए कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने पर जोर दिया।

कार्यक्रम में अतिथि के रूप में सीएमएचओ डॉ. जितेंद्र चौधरी, सीएसपी देवेंद्रसिंह धुर्वे, जिला महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ. संजय भंडारी मंचासीन थे।अध्यक्षता प्राचार्य अमिता वाजपेयी ने की। सीएमएचओ डॉ. चौधरी ने कहा  कोरोना से बचाव वैक्सीनेशन से ही होगा। उन्होंने छात्रों से अपने व आसपास के लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करने के लिए कहा। सीएसपी धुर्वे ने कहा विगत दो वर्ष हमारे लिए निश्चत तौर पर बहुत कठिन रहे है। इसमें आशा की किरण वैक्सीन ही है। छात्रों से उन्होंने कहा कि इसे एक अभियान के रूप में आप सब आगे बढ़ाए, यह कदम छोटा है लेकिन इसका असर बड़ा होगा। जिला महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ. भंडारी ने कहा कि कोरोना वायरस बहरूपिये की तरह है। यह लगातार अपना रूप बदलता रहता है। बचाव हेतु टीकाकरण काफी महत्वपूर्ण है। बचपन से हमें टीके लगना शुरू हो जाते है। संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए टीकाकरण जरूरी है। विद्यालय के  नववीं की छात्रा प्राची भूरिया, बारहवीं की पूजा साहू व ग्यारहवीं के गौरव त्रिवेदी ने कोरोना महामारी और वैक्सीनेशन के बारे में बताया।

कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों ने मां सरस्वती का पूजन कर किया गया। स्वागत भाषण वरिष्ठ शिक्षक श्रीकांत द्विवेदी ने दिया। भूमिका ब्यूरो प्रभारी पत्रिका अमित मंडलोई ने बताई। संचालन शालिनी दुबे, आभार विद्यालय के शिक्षक अभय किरकिरे ने माना।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button