Breaking News

ओ-जोन मुक्ति संघर्ष समिति के द्वारा विशाल धरना प्रदर्शन

DDA कार्यालय INA पर किया गया धरना प्रदर्शन जिसमें अध्यक्ष अनिल शर्मा ने बताया कि
DDA के द्वारा मास्टर प्लान 2021 के अंतर्गत ओ जोन बनाया गया है वो यमुना नदी से 300 मीटर तक कि दूरी के लिये बनाया गया है । हमारी बदरपुर विधानसभा के दो को F जोन में रखा गया है जबकि नहर पार के तीन वार्ड हरिनगर, जैतपुर, मिठापुर के अंतर्गत तीन गांव और लगभग 50 कॉलोनियों है जिसमे लगभग 5 लाख लोग रहते है हमारे क्षेत्र को DDA ने गलती से ओ जोन में किया गया था ।जिसका नोटिफिकेशन 2008 में जारी किया था जब हमने सरकार तक अपनी आवाज पहुँचाई तब DDA के अधिकारियों ने माना कि गलती की वजह से हमारा क्षेत्र का हिस्सा ओ जोन में हो गया था रामसिंह नेताजी के प्रयास से DDA ने रिव्यु करके हमारे क्षेत्र को ओ से F जोन में कर दिया था जिसका नोटिफिकेशन 28/09/2013 को जारी किया था लेकिन NGT कोर्ट ने 28/10/2013 को DDA के उस नोटिफिकेशन पर स्टे लगा दिया था और लगातार NGT कोर्ट के द्वारा ओ जोन की रिपोर्ट मांगी जा रही है लेकिन आपका विभाग DDA पता नही क्यों ओ-जोन की डिमार्केशन की रिपोर्ट जमा नहीं कर रहा था।
DDA के द्वारा 5 मई 2017 को माननीय NGT की कोर्ट में कहा था कि ओ-जोन की डिमार्केशन की रिपार्ट कल जमा कर देंगें लेकिन रिपोर्ट जमा नही की गई उसके बाद 14 जनवरी 2019 को श्रम मंत्रालय में NGT के द्वारा गठित की गई प्रिंसिपल कमिटी की मीटिंग में भी DDA के अधिकारियों ने कहा कि अगली मीटिंग में रिपोर्ट जमा कर देंगें उस मीटिंग की अध्यक्षता प्रिंसिपल कमिटी के चैयरमेन श्री यू पी सिंह जी ने की थी मीटिंग में ओ-जोन मुक्ति संघर्ष समिति के अध्यक्ष अनिल शर्मा जी सहित सभी विभागों के अधिकारी मौजूद थे आपके विभाग के द्वारा ना जाने क्यों बार बार रिपोर्ट जमा करने में टालमटोल हो रही थीं और जब रिपोर्ट प्रिंसिपल कमेटी को जमा की गई तो उसमें एरिया के मैप को चिन्हित नही किया हमे लगा कि हमे ओ-जोन से मुक्ति मिल जाएगी जब हम कामयाबी के करीब पहुँचे ही थे कि DDA ने जून 2021 में MPD-2041 का नया प्लान ड्राफ्ट कर दिया जिसमे हमारे क्षेत्र को ओ-जोन-2 में किया जा रहा है जिसके विरोध स्वरूप हमने हज़ारों की संख्या में आपत्ति दर्ज करवाई हैं।

ओ-जोन की वजह से मकानों को तोड़ा जाता है सील लगाई जाती है सीवर का काम रुका हुआ है हॉस्पिटल का काम रुका हुआ है
ओ-जोन मुक्ति संघर्ष समिति के द्वारा बदरपुर विधानसभा में नाजायज रूप से लगाये गए ओ-जोन को हटाने के लिये संघर्ष पिछले कई वर्षों से किया जा रहा है । जबकि हमारी सारी कॉलोनिया PM उदय योजना की लिस्ट में भी शामिल है DDA ने मकानों के सर्वे के नाम पर रजिस्ट्री का सपना दिखाकर हजारों लोगों से पैसा भी लिया और बाद में ओ-जोन के नाम पर फ़ाइलो को रिजेक्ट भी कर दिया । हम DDA कार्यलय सहित अपने क्षेत्र में कई बार धरना प्रदर्शन भूख हड़ताल आदि कर चुके हैं।आपका विभाग हमारी सुनवाई नही कर रहा है । हमारे क्षेत्र मीठापुर जैतपुर सहित पूरी दिल्ली में लगभग 10 लाख लोगों के घरों पर ओ-जोन रूपी राक्षस ने मकानों की रजिस्ट्री को बड़ी समस्या बना दिया है इसके साथ ही ओ-जोन भरस्टाचार का अड्डा बन चुका है जिसमे DDA MCD पुलिस प्रशासन सब मिलकर गरीब जनता को मकानो की रिपेरिंग के नाम पर लूटने का धंधा करते है।हमारे क्षेत्र को F जोन में शामिल किया जाय जिससे 10 लाख लोगों के घरों पर दहशत की दीवार हमेशा के लिये समाप्त हो जाये और सब सुख चैन से अपने मकानो में रह सके। प्लानिंग कमिश्नर साहब ने समिति के लोगो की बातों को सुना अध्यक्ष अनिल शर्मा और उपाध्यक्ष सरजीत चोकन ने निम्नलिखित मांग रखी
1 ओ जोन-2 हटना चाहिए और मकानों की रजिस्ट्री होनी चाहिये।
2 जैतपुर मोड़ से मोलरबन्द तक NTPC वाली DDA की दीवार 100 फुट पीछे हटनी चाहिये।
3 बदरपुर स्थिति NTPC वाली DDA की 400 एकड़ भूमि को हॉस्पिटल कॉलेज बस टर्मिनल स्कूल बुजुर्ग आश्रम जैसी सार्वजनिक हित हेतु उपयोग में करना चाहिये। इस दौरान धरने में शिवेंद्र नागर, मोहित चोकन, आनंद गोयल, एम प यादव, सुमित सक्सेना, पी के झा, नरेंद्र सिंह, पंकज राय, निगम, प्रेम भारद्वाज, अनिल अगरवाल, विजय सिंह, मनोज शर्मा, रमेश यादव, मन्नू दुबे, रेनू वर्मा, सोमनाथ पाल, मनोज सिंह सहित सैकड़ों की संख्या में महिलाएं भी मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button