Breaking News

मध्य प्रदेश : कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने धार, मनावर के विभिन्न ग्रामों का दौरा किया

कृषि, आत्मा परियोजना, उद्यानिकी एवं पी.एच.ई. विभाग अंतर्गत ग्राम स्तर पर किये कार्यों के निरीक्षण एवं अवलोकन

मनावर :- जिले में रबी सीजन अंतर्गत किसानों द्वारा खेती में किये नवाचार एवं जैविक खेती का कलेक्टर डॉ. पंकज जैन द्वारा विभिन्न ग्रामों में मौके पर फसलों का अवलोकन कर कृषको से चर्चा की। सर्वप्रथम विकासखण्ड धार के ग्राम लबरावदा के जैविक खेती कृषक नरेन्द्रसिंह राठौर के खेत में मटर, लहसून, मैथी फसल का अवलोकन किया एवं भण्डारित अदरक, प्याज एवं सोयाबीन उत्पाद अवलोकन कर उपस्थित कृषकों को जैविक खेती का रकबा बढ़ाने के साथ अन्य किसानों को अधिक जोड़ने की सलाह दी गई। इसके पश्चात ग्राम मारोल के कृषक  हरीराम पाटीदार जय गजानन्द जैविक कृषि फार्म द्वारा उत्पादित जैविक हल्दी पैकेट का मौके पर अवलोकन किया। कलेक्टर डॉक्टर ने मार्केट में ब्रॉडिंग कर विक्रय करने की सलाह दी। इस दौरान जिला पंचायत सी.ई.ओ. आशिष वशिष्ट भी साथ थे।


        कलेक्टर डॉ जैन ने लोक स्वास्थ यांत्रिकी विभाग द्वारा ग्राम चाकडोद (मनावर) निर्माणाधीन पेयजल टंकी का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिये। ग्राम टिमरनी में निर्मित पेयजल टंकी, पाईप लाईन एवं डगवेल का अवलोकन किया तथा ओपन डगवेल से पेयजल हेतु सप्लाई करने वाले पानी को फिल्टर कैसे किया जाये, विभाग को पानी फिल्टर करने हेतु निर्देश दिये गये। ग्राम सिंघाना (मनावर) के कृषक अनिल मुकाती के द्वारा निर्मित पौलिहाउस, शेडनेट हाउस में नर्सरी पौध करेला, पपिता, टमाटर, मिर्च आदि का अवलोकन किया एवं कृषक से व्यावसायिक दृष्टिकोण से चर्चा की गई। उपस्थित कृषक को आगामी समय में कृषक उत्पाद संगठन बनाकर टिसू कल्चर लेब बनाने की सलाह दी गई। साथ ही ग्राम सिंघाना के ही कृषक  दिलीप गोविन्दजी पाटीदार के खेत पर नेनो यूरिया के स्प्रे करते हुये कृषक से चर्चा कर यूरिया के उपयोग के बारे में आवश्यक जानकारी दी गई । जिसमें फसल की पत्तीयों पर स्प्रे करने से आवश्यक तत्व तत्काल पौधों को प्राप्त होते है। इस लिये किसान भाई नेनो यूरिया का उपयोग करना चाहिये। यह नैनो यूरिया दानेदार यूरिया उर्वरक की तुलना में सस्ता एवं परिवहन हेतु सुविधाजनक होता है। ग्राम एवं विकासखण्ड निसरपुर अंतर्गत कृषक मुकेश रूखडू पाटीदार की जैविक खेती कृषक के खेत जैविक फसले सीताफल, बैंगन, पपिता एवं भिन्डी एवं आत्मा नवचार घटक अंतर्गत प्रदाय वेस्ट डिकम्पोज़र यूनिट का अवलोकन कियाएल कलेक्टर डॉ जैन ने कृषक द्वारा किया नवाचार की सराहना भी की गई । कृषक  मुकेश पाटीदार द्वारा  बताया कि जैविक पपीता की दर 12/- से 15 /- प्रति किलोग्राम जो सामान्य बाजार भाव से जैविक पपिता की दो गुनी राशि प्राप्त हुयी है।  यश पाटीदार इंजिनियर (आई.आई.टी.-धनबाद) भी जैविक खेती में उनके पिता के साथ वैज्ञानिक तरीके कृषि विभाग एवं आत्मा परियोजना के मार्गदर्शन में कार्य कर रहे है। चर्चा उपरान्त कलेक्टर डॉ. जैन द्वारा अन्य कृषको को भी जोड़ने हेतु सलाह दी गई तथा कृषक द्वारा आगामी समय में गेंहू फसल हेतु ग्रेडिंग यूनिट स्थापित करने हेतु सलाह दी गई।
     
कलेक्टर डॉ जैन ने ग्राम करजवानी में पहाड़ों का सीना चिर खेतो तक पानी पहुचाया पद्धति का मौके पर अवलोकन किया गया। मौके पर कृषक  मेहताब सुरला एवं अन्य कृषकों  द्वारा इस पाट पद्धति से बिना बिजली के 5 किलोमिटर दूर तक उकाला से निकला हुआ पानी से अपने खेतो तक गेंहू, चना, मिर्च एवं कपास फसल सिंचाई की सरहाना की गई तथा कृषको को वैज्ञानिक पद्धति से गेंहू, चना, मिर्च एवं कपास फसल की सलाह दी गई। भ्रमण के दौरान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व (कुक्षी) नवजीवन पंवार, किसान कल्याण तथा कृषि विभाग के उप संचालक कृषि, परियोजना संचालक आत्मा, उद्यानिकी वि भाग के उपसंचालक उद्यानिकी, पी.एच.ई. विभाग के अनुविभागीय अधिकारी क्षेत्र के अनुविभागी कृषि अधिकारी, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, ग्रामिण कृषि / उद्यानिकी विस्तार अधिकारी बी. टी. एम आत्मा उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button