Breaking News

BJP वाले हि‍न्‍दू-मुस्‍लि‍म दंगा कराना चाहते हैं, मगर यहां बाबा साहेब का संवि‍धान चलता है मनु का नहीं : राजभर

वाराणसी ब्यूरो

वाराणसी। बाबा साहेब डॉक्टर आंबेडकर ने ऐसा संविधान दिया है न कि पानी पीया देई, काहे बदे फिर बदल देलन है हिम्मत तो फिर कर दें। ये बाबा साहब आंबेडकर का संविधान है ये मनु का संविधान नहीं है। उलाट देंगे सब। भाजपा ये सब जानबूझकर दंगा करवाने के लिए कर रही है कि हिन्दू-मुसलमान हो जाए। उक्त बातें शिवपुर विधानसभा में आयोजित सरदार वल्लभ भाई पटेल एकता समरोह में सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने वाराणसी में मस्जिद को गेरुआ किये जाने के सवाल के जवाब में कहीं। शिवपुर विधानसभा क्षेत्र में भागीदारी संकल्प मोर्चा के द्वारा आयोजित सरदार वल्लभ भाई पटेल एकता समरोह में बतौर अतिथि पहुंचे ओमप्रकाश राजभर ने एक बार फिर मौजूदा सरकार को आड़े हाथ लिया। वहीं एक भाजपा विधायक के बयान कि विश्वनाथ धाम के बगल में स्थित सफ़ेद भवन आंखों में चुभता है पर उन्होंने पलटवार करते हुए कहा कि सफ़ेद कुर्ता सबसे पहले निकाल के फेक दें। सफ़ेद तो वो भी और ऐसा चुभेगा कि दुबारा सदन में जा नहीं पाएंगे। इन लोगों ने कोई काम नहीं किया है। 21 तारीख को प्रधानमंत्री महिलाओं के साथ सम्मलेन करने जा रहे हैं के सवाल पर उन्होंने कहा कि जिसके पास परिवार नहीं वो परिवार की क्या बात करेगा। वहीँ कांग्रेस के महिलाओं के घोषणा पत्र पर उन्होंने कहा कि हम 50 प्रतिशत हिस्सेदारी देने का काम करेंगे। प्रियंका जी क्या दे रहीं वो उनका मामला है। वहीं लाल पगड़ी और पीले गमछे पर पूछे गए सवाल पर कहा कि इस लाल पगड़ी और पीले गमछे को देखकर दिल्ली तक बैठे लोग लाल पीले हो रहे हैं इसलिए ये विरोध हो रहा है। लाल और पीला मिलने से उत्तर प्रदेश की सत्ता जा रही है। उसकी घबराहट में यह बयानबाज़ी हो रही है।

किसानों से 23 तारीख को सम्मलेन करेंगे मोदी जी के सवाल पर कहा कि किसानों का धन दुगना करवा रहे हैं योगी जी के सांड, इसपर कोई अंकुश लगवा रहे हैं। किसान का सारा खेत चर जा रहे हैं योगी के सांड इसपर कोई कार्य कर रहे हैं। बेरोज़गारी, महंगाई पर कोई कार्य नहीं कर रहे हैं। प्रदेश में 34 लाख पद खाली हैं पर ये भर नहीं पा रहे हैं। कोई पेपर करवा रहे हैं उसका पेपर लीक हो जा रहा है। इनका खुद का लीकेज ही नहीं ठीक है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button