Breaking News

मनावर विधायक डॉ हीरालाल अलावा ने विधानसभा में जल संसाधन मंत्री से पूछे सवाल, जानिए पूछे गए सवालों के क्या जवाब देते हैं मंत्री तुलसी सिलावट।

भोपाल :- विधानसभा क्षेत्र मनावर के विकास और जल संसाधन संबंधित योजनाओं तथा तालाब और पुनर्वास के लिए विधायक डॉ हीरालाल अलावा ने विधानसभा में उठाए गए सवाल जिसका जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने दिए जवाब। आपको बता दें कि विधानसभा क्षेत्र मनावर और जनता के हित में विधायक डॉ अलावा कई बार विधानसभा सत्र में विभिन्न मुद्दों को लेकर सवाल कर चुके हैं जिसके परिणाम स्वरूप क्षेत्र जनता को लाभ भी मिला और जिसके कार्यवाही स्वरूप कई मुद्दों को हल भी किया जा सका है।

सवाल :- विधायक डॉ. हिरालाल अलावा ने पूछा क्या जल संसाधन मंत्री महोदय यह बताने की कृपा करेंगे कि जिले के लिए विभाग द्वारा जनवरी 2018 से प्रश्न दिनांक तक की गई, स्वीकृतियों का ब्यौदा दें। उसमे कितनी स्वीकृतियां मनावर विधानसभा क्षेत्र के लिए थी? वर्तमान में उन स्वीकृतियों का क्या प्रोग्रेस है? ब्यौदा दें। (ख) सिंचाई के लिए तालाब निर्माण हेतु कौन-कौन सी योजनाओं का संचालन केन्द्र सरकार प्रदेश में किया जा रहा है? उक्त योजनाओं की मनावर विधानसभा क्षेत्र में क्या स्थिति है? (ग) सिंचाई के पुनर्वास एवं सुधार के लिए कौन-कौन सी योजनाएं संचालित हैं? जनवरी 2018 से प्रश्न दिन उमरबन, मनावर एवं निसरपुर विकासखण्ड अंतर्गत किन-किन तालाबों के पुनर्वास एवं सुधार के व गए? तत्संबंधी ब्यौरा दें। (घ) कलेक्टर धार को सिंचाई तालाबों के पुनर्वास एवं निर्माण से संबंधित किर को कितने पत्र प्राप्त हुए? उक्त पत्रों पर क्या कार्यवाही की गई? तत्संबंधी ब्यौरा दें।

जवाब :- जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट : (क) धार जिले के लिए विभाग द्वारा जनवरी 2018 दिनांक तक की गई स्वीकृतियों का ब्यौरा तथा प्रोग्रेस संलग्न परिशिष्ट के प्रपत्र-“अ” अनुसार है। उक्त र में से कोई भी स्वीकृति मनावर विधान सभा क्षेत्र के लिए नहीं है। (ख) केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री कृ योजना के घटक त्वरित सिंचाई लाभ कार्यक्रम (एआईबीपी) के अंतर्गत केंद्र सरकार से प्राप्त आंशिक अनुदान से सिंचाई के लिए तालाब निर्माण किया जाता है। मनावर विधान सभा क्षेत्र में एआईबीपी अंतर्गत कोई योजना नहीं है। (ग) सिंचाई तालाबों के पुनर्वास एवं सुधार के लिए प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना संचालित हैं। उमरबन, मनावर एवं निसरपुर विकासखण्ड के किसी भी । पुनर्वास एवं सुधार का कार्य नहीं किया गया। शेषांश का प्रश्न उपस्थित नहीं होता है। (घ) कलेक्टर माध्यम से सिंचाई तालाबों के पुनर्वास से संबंधित विभाग को कोई पत्र प्राप्त नहीं होना प्रतिवेदित है तालाबों के निर्माण के संबंध में कलेक्टर धार के माध्यम से प्राप्त पत्र तथा उन पत्रों पर की गई कार्यवाही विवरण संलग्न परिशिष्ट के प्रपत्र-“ब” अनुसार है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button