Breaking News

राजस्थान : सूफी संत ख्वाजा गरीब नवाज के 810वें सालाना उर्स की शुरूआत, भीलवाड़ा के गोरी परिवार ने बुलंद दरवाजे पर झंडा चढ़ाया।

अजमेर :- सूफी संत ख्वाजा गरीब नवाज के बुलंद दरवाजे पर भीलवाड़ा से आए गोरी परिवार की ओर से झंडा चढ़ाया गया। इस झंडे की रस्म के साथ ही ख्वाजा गरीब नवाज की 810 वें सालाना उर्स की शुरूआत हो गई। कोविड-19 महामारी के बीच गाजे-बाजे और पुलिस बैंड की मौजूदगी में गोरी परिवार के साथ ही दरगाह के अन्य पदाधिकारी दरगाह गेस्ट हाउस से झंडा लेकर बुलंद दरवाजे पर पहुंचे। इस दौरान झंडे को चुमने के लिए हजारों की संख्या में अकीदतमंद मौजूद रहे, जिन्होंने इस झंडे के दीदार के लिए घंटो तक इंतजार किया।

देश विदेश के हजारों जायरीन की मौजूदगी में शानो शौकत से ख्वाजा गरीब नवाज की सालाना उर्स की शुरुआत हुई। इस मौके पर इक्कीस तोपों की सलामी भी दी गई। झंडा चंडी के साथ ही गौरी परिवार और दरगाह की अन्य पदाधिकारी ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह पहुंचे, जहां विशेष दुआ की गई और देश-विदेश में अमन-चैन भाईचारे के साथ ही देश विदेश में चल रही कोविड-19 महामारी के खात्मे की दुआ मांगी।

उर्स के आगज के बाद देश विदेश से जारी लोग का अजमेर की ओर आगमन शुरू होते जा रहा है।

वह इस मौके पर दरगाह कमेटी के खादिम सैयद शकील अहमद चिश्ती ने मीडिया से खास बातचीत में कहा कि कोविड-19 महामारी की तमाम गाइडलाइन के बीच उर्स मेला आयोजित किया जा रहा है। इसे लेकर व्यापक इंतजाम किए गए हैं। साथ ही उन्होंने इस उर्स मेले को लेकर जिला पुलिस प्रशासन का भी आभार जताया है, जिससे कि मेला शांतिपूर्ण संपन्न हो। वहीं, उन्होंने कहा कि हर वर्ष दरगाह की मजार शरीफ पर चादर और अकीदत के फूल पेश होते हैं, लेकिन इस बार महामारी के चलते ऐसी व्यवस्था अब तक शुरू नहीं की गई है। ऐसे में जो भी चादर होगी वह सीधी ही भेंट की जाएगी और उर्स मेले में तमाम रस्मे आयोजित की जाएगी। इस मौके पर एडीएम सिटी राजेंद्र अग्रवाल अजमेर एसपी विकास शर्मा एडिशनल एसपी विकास सागवान के साथ ही कई पुलिस अधिकारी व प्रशासनिक अमला मौजूद रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button