Breaking News

अजमेर : श्री बुधवानी शनिवार को अजमेर पहुचे, जहां उन्होंने सीएम गेहलोत की चादर चढ़ाई, सीएम का संदेश पड़ा।

अजमेर :-  ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती के 810 वें उर्स में शनिवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की चादर पेश की गई। वक्फ बोर्ड के चेयरमेन खानू खां बुधवाली चादर लेकर अजमेर पहुंचे। उन्होंने दरगाह में मजार शरीफ पर चादर पेश की। चादर पेशगी के पश्चात मुख्यमंत्री श्री गहलोत का संदेश पढ़ा।

श्री बुधवाली शनिवार 2 बजे करीब दोपहर में मुख्यमंत्री गहलोत की चादर लेकर अजमेर पहुंचे थे। पुलिस की चाक-चौबंद सुरक्षा इंतजाम के बीच वे चादर लेकर आए। इस दौरान निजाम गेट से आस्ताना शरीफ तक आरएसी और पुलिस के जवानों ने विशेष सुरक्षा घेरा बनाए रखा। जायरीन की भीड़ के बीच श्री बुधवाली चादर लेकर मजार शरीफ तक पहुंचे। खादिम यासिर गुर्देजी ने चादर पेश की। जबकि अंजुमन सचिव वाहिद हुसैन अंगारा ने जियारत कराई। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष नसीम अख्तर इंसाफ, हाजी इंसाफ अली और अन्य मौजूद रहे।

भाईचारा और सद्भाव कायम रहने की प्रार्थना की

श्री बुधवाली ने दरगाह के निकट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भेजा संदेश पढ़ा। इसमें गहलोत ने कहा कि हिंदुस्तान की सरजमीं को हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती जैसे महान औलियाओं ने खुदाई खिदमत और रूहानी तालीमात से फैजयाब किया है। आज के दौर मे मजहब के नाम पर समाज को कमजोर करने की कोशिशें की जा रही हैं। तब गरीब नवाज का कौती एकता का पैगाम ज्यादा प्रासंगिक हो जाता है। गरीब नवाज ने कमजोर, गरीब और बेसहारा लोगों की खिदमत करने, एकदूसरे से भाईचारा, सद्भाव कायम रखने और मुल्क की बेहबूदी और खुदा की इबादत पर जोर दिया है। उनके आस्ताने पर न सिर्फ हिंदुस्तान बल्कि दुनिया भर के जायरीन अकीदत के साथ मन्नल लेकर हाजिर होते हैं। जिन्हें फेज भी हासिल होता है।

जियारत का सिलसिला जारी

ख्वाजा गरीब नवाज के दरबार में उर्स के मौके पर अकीदतमंद चादर लेकर पहुंच रहे हैं। लोग उर्स का लुफ्त उठा रहे हैं और अपने अरकान पूरे कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button