Breaking News

DCP काशी जोन ने जाना पुलिसकर्मियों की क्या है समस्याएं, ड्यूटी निष्ठा के साथ करने की दी नसीहत

वाराणसी ब्यूरो

वाराणसी। पुलिस विभाग में तैनात पुलिसकर्मियों द्वारा आत्महत्या या आत्महत्या करने के प्रयास जैसी घटनओं पर उच्चाधिकरी चिंतित हैं। लगातार हो रही इन घटनाओं को देखते हुए डीसीपी काशी जोन आरएस गौतम और दशाश्वमेध एसीपी अवधेश पांडेय ने रविवार को गोदौलिया स्थित एक होटल में पुलिसकर्मियों से संवाद कर उनकी समस्याओं को जानने की कोशिश की। इस सैनिक सम्मेलन का कमिश्नरेट सर्किट स्तर पर आयोजन हुआ। डीसीपी ने बैठक में पुलिसकर्मियों से बात कर उनकी समस्याओं को पूछा, ताकि इसका त्वरित निस्तारण का प्रयास हो सके। उन्होंने पुलिसकर्मियों के साथ उनका दर्द साझा करते हुए ड्यूटी जिम्मेदारी और निष्ठा के साथ करने की भी नसीहत दी।

पुलिस कर्मियों से उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी कर उनके निराकरण के लिए संबंधित को निर्देशित किया गया। सैनिक सम्मेलन में एसीपी दशाश्वमेध ने पुलिसकर्मियों को बताया कि किसी भी केस में अगर कोई तथ्य छीपे हैं तो उसे तत्काल सामने रखें, वरना बाद में उस तथ्य के सामने आने पर संबंधित पुलिसकर्मी को ही शर्मिंदगी का सामना करना पड़ सकता है, जो अच्छा नहीं है।

इसके अलावा जिस भी पुलिसकर्मी को ड्यूटी के दौरान, घर में या आवास संबंधित कोई भी दिक्कत हो वो अपने उच्चाधिकारी से इस संबंध में खुलकर बात करे और समस्या से अवगत कराए, ताकि उसका समाधान निकाला जा सके।

बता दें, लालपुर-पांडेयपुर थाने पर तैनात सरकारी जीप के ड्राइवर जसवंत सिंह ने जीप में ही खुद को अपनी सरकारी रिवाल्वर से शुक्रवार बीती रात नाइट ड्यूटी के बाद गोली मार ली थी। फिलहाल वे ट्रामा सेंटर में भर्ती है, जहां उनकी हालत गंभीर बनी है। आत्महत्या के प्रयास के पहले जसवंत ने कई व्हाट्सप्प मैसेज किये थे, जिसमे उन्होंने अपने बेटे को सुसाइड नोट लिखकर छुट्टी न मिलने और बेटे की बिमारी से परेशान रहने का जिक्र किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button