Breaking News

थाना प्रभारी ने लगाई चौपाल : शिक्षा, साइबर क्राइम, ट्रैफिक नियम व बाल अपराध के बारे में जागरूक किया।

मनावर : मप्र – मनावर के थाना प्रभारी नीरज कुमार बिरथरे ने महिला, पुरुष एवं खासकर बच्चों को जागरूक करने के उद्देश्य से गांधीनगर के आंगनवाड़ी प्रांगण में चौपाल लगाई। उन्होंने क्षेत्रवासियों से रूबरू होकर समाज और देश में चल रहे हालातों के बीच सतर्क और जागरूक रहकर कैसे जीवन यापन करना है के बारे में बताया। साथ ही उन्होंने ट्रैफिक, साइबर क्राइम और बाल अपराध से जुड़े तथ्यों को समझाते हुए बेहतर मार्गदर्शन दिया।

उन्होंने पति पत्नी के होने वाले घरेलू झगड़ों को लेकर कहा कि कोई भी पति अपनी पत्नी के साथ एवं पत्नी अपने पति के साथ दुर्व्यवहार ना करें। पति पत्नी या पारिवारिक झगड़ों में हालत बिगड़ने पर महिलाए अपनी नजदीकी थाने में महिला अधिकारी से संपर्क कर सकती है। उन्होंने बताया कि अक्सर विवाद थाने में आकर शांत हो जाते हैं जो घर एवं मोहल्ले में कहल पैदा करते है। उन्होंने कहा कि अक्सर मोहल्ले, कॉलोनी या अपने क्षेत्र में कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा परेशान किया जाता है उनके खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़े और जो गुनाहगार है उन्हें ही दोषी बनाएं और ईस बात का भी ध्यान रखें कि किसी निर्दोष व्यक्ति को दोषी बनाकर परेशान ना किया जाए।

अपने बच्चो को अच्छी शिक्षा दे।

थाना प्रभारी श्री बिरथरे ने कहा कि अपने बच्चो के साथ कही भी शारीरिक प्रताड़ना होती है तो उसे छुपाए नहीं, उसके साथ लड़े, बच्चो को जागरूक करे, उन्हे दबाए नही। अक्सर देखने को मिलता है कि छोटे छोटे बच्चो को उनके रिश्तेदार, टीचर, या पड़ोसी शारीरिक प्रताड़ित छेड़छाड़ करते है, लेकिन बच्चों को यह समझ नहीं रहती है कि यह किस नियत से हमें छू रहे हैं या हमारे साथ कोई भी अश्लील हरकत कर रहे हैं। और कई बार बच्चे या परिवार के सदस्य शर्म और डर में उनकी इन हरकतों को दबा देते है या उजागर नहीं किया जाता है जो एक बहुत बड़ा गलत फैसला रहता है। इसलिए अपने घर की छोटी बच्चियों या बच्चों को अच्छी समझाइश दें, उनके साथ प्यार से पेश आए, उन्हें हर हालात और बातों से रूबरू करें एवं उनकी बातें भी समझे। उन्हें यह भी बताएं की कैसे व्यक्तियों के नजदीक रहना और जैसे व्यक्तियों से दूरी बनाकर रहना उचित है। श्री बिरथरे ने कहा कि सभी परिजन अपने बच्चो को रोजमर्रा का जीवन जीने की शिक्षा दे, उन्हे बताए की कोन किस नियत से उन्हें छू रहा है। अच्छा और बुरा व्यवहार सिखाए। बच्चो के साथ बराबर मेल मिलाप रखे, रास्ते में हो रहे अपराधो यह अपराध की शुरुआत को नजर अंदाज न करे। लड़की को छेड़ने पर बात न दबाए, हेल्प लाइन लगाए, पुलिस से संपर्क करे, ताकि आने वाले समय में कोई बड़ी घटना घटित ना हो सके। थाना प्रभारी ने चौपाल में बैठी बच्चियों को स्कूल या बाजार जाते समय किसी लड़के द्वारा रास्ता रोकने तथा छेड़छाड़ करने पर किस तरह अपना बचाव करना एवं किससे संपर्क करना का उचित मार्गदर्शन दिया।

थाना प्रभारी ने लड़कियों को सफर करके के तरीके सिखाए, केसे सफर करे, उन्होंने कहा कि किसी भी लड़की को सफर करते समय जिस ऑटो या बस या अन्य वाहन में बैठकर जा रही हो उसके फोटो खींचकर अपनी परिजन को भेजें या कम से कम उसकी नंबर प्लेट को जरूर नोट करें। ऑटो या वाहन चालक के सामने परिजनों से बात करें, जिसमें उसका उल्लेख हो ताकि कोई भी वाहन चालक यात्री के साथ किसी प्रकार का दुर्व्यवहार न कर सके।

इंटरनेट के बारे के बताया।

उन्होंने इंटरनेट द्वारा हो रहे देश और दुनिया में साइबर क्राइम से जुड़े कई मामलों को संक्षिप्त में समझाते हुए उपस्थित क्षेत्रवासियों से कहा कि आज के दौर में साइबर क्राइम बहुत तेजी से बढ़ रहा है। अपने मोबाइल पर किसी भी प्रकार का कोई भी कॉल या संदेश आए जो बैंक से जुड़ी डिटेल मांग रहा हो या फिर कोड नंबर के बारे में पूछ रहा हो, ऐसे किसी व्यक्ति से बात ना करें, ना ही उन्हें अपनी मोबाइल बैंक या कोड की डिटेल दें। और तत्काल संबंधित बैंक से संपर्क करें। उन्होंने कहा कि क्रिमिनल नए नए तरीके अपनाकर लोगों को अपनी जाल में फंसाने की कोशिश करते हैं लेकिन आपको सतर्क रहना है।

सोशल मीडिया के बारे में

उन्होंने सोशल मीडिया पर भी सतर्क रहने के कई उपाय बताए, उन्होंने कहा कि कई लड़कियां व लड़के फ्रॉड आईडी बनाकर आपको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर या कॉल करके दोस्ती करेंगे। कुछ दिनों बाद वह अनशील चित्र भेजने तथा मांगने की भी बात करते हैं, यहां तक कि प्रोफेशनल कॉल गर्ल्स अपने न्यूड वीडियो भी आपको शेयर करती है और आपसे भी उसकी मांग करती है लेकिन वह एक ठगी का नया तरीका है, कुछ दिनों बाद यही लोग आप को ब्लैकमेल करके पैसे ऐठने की कोशिश करते हैं नहीं देने पर बदनाम करने की धमकी भी देते हैं जिसके चक्कर में कई लोग फसकर अपनी जान तक दे चुके हैं और कई अपनी जेब ढीली कर चुके हैं ऐसे लोगों से भी सतर्क रहने की बहुत जरूरत है।

धार्मिक स्थानों पे केमरे लगाओ

सभी समाज को एकजुट होकर रहना है, कोई किसी से लड़ कर कभी नही जीता है। हमेशा देखने को मिला है की ऐसे विवाद में निर्दोष लोग भी फसते है। उन्होंने कहा पुलिस हमेशा सभी के लिए होती है। हतियार उठाने से बेहतर शिक्षा का बीड़ा उठाए। गलती जिनकी हो उसे उजागर करे, निर्दोष को बचाए, हमेशा प्रेम की भावना रखे। उन्होंने कहा कि पुलिस किसी पर हाथ भी उठाती है तो अच्छाई और भलाई के लिए। साथ ही उन्होंने कहा कि जन सहयोग से सभी लोग धार्मिक स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जिससे कि उत्पाद करने वाले लोगों के चेहरे उजागर हो सके और जो निर्दोष लोग भी ऐसे मामलों में फस जाते हैं वह बच सके।

ट्रैफिक के नियम पर भी दी जानकारी

थाना प्रभारी ने सभी क्षेत्रवासियों से कहा कि दो पहिया वाहन में सफर करने समय हमेशा हेलमेट एवं कार में बैठते समय सीट बेल्ट का उपयोग करें, क्योंकि देश में अधिकांश दुर्घटनाएं हेलमेट न पहनने और गंभीर चोट लगने से होती है। उन्होंने कहा कि हमेशा मुड़ते समय हाथ देने से काम नहीं चलता हमें पीछे भी देखना है कि कोई व्यक्ति या वाहन अपने नजदीक तो ना आ गया हो। बैठक के अंत में उन्होंने सभी को प्राथमिक उपचार की जानकारी दी कि कैसे किसी भी दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति को स्वास्थ्य केंद्र तक पहुंचाने के लिए किन तरीकों को अपनाया जाए, जिससे दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति सही रूप से स्वास्थ्य केंद्र पहुंच सके।

इस अवसर वार्ड वासियों ने थाना प्रभारी को पुष्प माला पहनाकर गर्मजोशी के साथ स्वागत सम्मान किया। इस अवसर पर थाना प्रभारी के साथ पुलिस विभाग से राघवेंद्र परमार, वार्ड की पूर्व पार्षद अख्तर बी, इंद्रा सेन, शिक्षक सदिर शेख, यासीन मंसूरी, चंदू सोनी तथा वार्ड के गणमान्य वरिष्ठ नागरिक, बच्चे एवं पत्रकार गण मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button