Breaking News

नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के बयान के बाद अरब सहित 57 मुस्लिम देशों में बवाल, अरब देशों के मार्केट में भारत के उत्पादकों पर बैन, भारत के व्यापार पर बुरा असर।


दावा किया जा रहा है की कानपुर में भी बयान के बाद भड़की हिंसा, बीजेपी ने अपने दोनो नेताओ को किया पार्टी से निष्कासित।


नई दिल्ली : पैगंबर मोहम्मद पर बीजेपी के दो नेताओं की कथित टिप्पणियों को लेकर खाड़ी देशों में उबाल है। इस्लामिक देशों में भारत का विरोध देखने को मिल रहा है। कतर और कुवैत के बाद ईरान ने भी भारतीय दूत को तलब किया है। सोशल मीडिया पर भारतीय उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने के आह्वान किए जा रहे हैं। भारत में 2020-21 में 90 अरब डॉलर का किया था व्यापार। इसी बीच कतर ने कहा है कि विवादित बयान से मानवाधिकारों की सुरक्षा को गंभीर खतरा हो सकता है।



पैगंबर मोहम्मद पर कथित टिप्पणी को लेकर BJP ने अपने नेताओं पर कार्रवाई की है। बीजेपी ने पार्टी के प्रवक्ता नूपुर शर्मा को सस्पेंड कर दिया है। इसके साथ ही पार्टी ने दिल्ली बीजेपी के नेता नवीन कुमार जिंदल के खिलाफ भी एक्शन लिया है। उन्हें भी पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। पैगंबर मोहम्मद पर कथित टिप्पणी के बाद इस पूरे मामले को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विवाद बढ़ा है।

बीजेपी नेता नूपुर शर्मा ने एक टीवी डिबेट के दौरान कथित तौर पर पैगंबर मोहम्मद पर विवादित बयान दिया था। ऐसा दावा किया जा रहा है कि उनके इस बयान के बाद ही कानपुर में हिंसा भड़की। इस मामले में विवाद बढ़ने के बाद बीजेपी आलाकमान ने नूपुर शर्मा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से सस्पेंड कर दिया है। वही इस विवाद को लेकर खाड़ी देशों ने भारत से विरोध जताया है और भारतीय राजदूतों को तलब किया है।

पैगंबर मोहम्मद को लेकर विवाद में अबतक क्या-क्या हुआ?

कतर और कुवैत के बाद अब ईरान ने भी पैगंबर मोहम्मद के बारे में बीजेपी के नेताओं की टिप्पणियों को लेकर भारतीय राजदूत को तलब किया है। खाड़ी के देशों ने इन टिप्पणियों की कड़ी आलोचना करते हुए कड़ी आपत्ति जताई है।

ईरान में भारतीय राजदूत धामू गद्दाम को तेहरान में रविवार शाम को दक्षिण एशिया के महानिदेशक की ओर से विदेश मंत्रालय में तलब किया गया, जहां विवादास्पद टिप्पणी को लेकर कड़ा विरोध जताया गया और पैगंबर के किसी भी अपमान को अस्वीकार्य बताया

कतर ने भारत के दूत दीपक मित्तल से कहा कि इस तरह की इस्लामोफोबिक टिप्पणियों को बिना सजा के जारी रखने की अनुमति देना, मानवाधिकारों की सुरक्षा के लिए एक गंभीर खतरा है। इससे हिंसा और नफरत का माहौल बन सकता है।

कतर और कुवैत स्थित भारतीय दूतावास के प्रवक्ता ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि बीजेपी नेताओं के ट्वीट किसी भी तरह से भारत सरकार के विचारों को नहीं दर्शाते। ये हाशिए के तत्वों के विचार हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि कतर में भारतीय राजदूत दीपक मित्तल ने विदेश कार्यालय में एक बैठक की जिसमें भारत में व्यक्तियों द्वारा दूसरे धर्म के पूजनीय लोगों को बदनाम करने वाले कुछ आपत्तिजनक ट्वीट्स के संबंध में चिंता जताई गई

कुवैत के विदेश मंत्रालय ने कहा कि कुवैत में भारतीय राजदूत सिबी जॉर्ज को रविवार को तलब किया गया और एशिया मामलों के सहायक विदेश मंत्री द्वारा एक आधिकारिक विरोध नोट सौंपा गया

कानपुर में हुई हिंसा के बाद पुलिस ने सभी जिलों में सतर्कता बढ़ा दी है. बरेली में धारा 144 लागू है। मौलाना तौकीर रजा खां ने 10 जून को शहर के इस्लामियां कालेज मैदान में धरना-प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।

बीजेपी ने पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए कथित विवादित बयानों के लिए रविवार को पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा को पार्टी से सस्पेंड कर दिया।



इन धाराओं में मुंबई पुलिस ने दर्ज किया है केस

नूपुर शर्मा ने टीवी डिबेट के दौरान पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी की थी और उसके बाद अगले ही दिन मुंबई पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज किया था। यह केस रजा अकादमी के जॉइंट सेक्रेटरी इरफान शेख ने दर्ज कराया था। मुंबई पुलिस कमिश्नर संजय पांडे ने बताया कि 29 मई की रात को नूपुर शर्मा के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। नूपुर शर्मा के खिलाफ आईपीसी की धारा 295A के तहत केस दर्ज किया गया है। इसके तहत उन पर धार्मिक वैमनस्य को उकसाने का आरोप लगाया गया है। इसके अलावा दो समूहों के बीच दुश्मनी बढ़ाने के आरोपों में सेक्शन 153A के तहत केस दर्ज हुआ है।

पार्टी ने किया निलंबित

विवादित बयान देने के बाद भाजपा ने रविवार को राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा को 6 साल के लिए निलंबित कर दिया। वहीं दिल्ली भाजपा के मीडिया प्रभारी नवीन कुमार जिंदल को भी निलंबित कर दिया गया। भाजपा ने कहा कि हम सभी धर्मों और उनके पूज्यों का सम्मान करते हैं। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने एक लेटर जारी कर कहा- भाजपा सभी धर्मों का सम्मान करने वाली पार्टी है।

पैगंबर मोहम्मद पर विवाद के बाद बीजेपी ने एक बयान में कहा कि वो किसी भी विचारधारा के खिलाफ है जो किसी भी संप्रदाय या धर्म का अपमान करती है। वही कांग्रेस ने बीजेपी के बयान को ढोंग बताते हुए खारिज कर दिया है।

पैगंबर मोहम्मद को लेकर विवाद बढ़ने के बाद नूपुर शर्मा ने अपनी सफाई में कहा है कि वो महादेव के अपमान को बर्दाश्त नहीं कर पाई और रोष में आकर कुछ चीजें कह दी। अगर मेरे शब्दों से किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची हो तो मैं अपने शब्द वापस लेती हूं।

नूपुर ने सोशल मीडिया पर मांगी माफी

भाजपा की कार्रवाई के बाद नूपुर ने सोशल मीडिया पर एक बयान जारी कर कहा था कि मेरी मंशा किसी को दुख पहुंचाने की नहीं थी। मैं अपने शब्द वापस लेती हूं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button