Breaking News

बिना परमिट हज यात्रा करने वालों को सऊदी सरकार करेगी गिरफ्तार, ठोकेगी जुर्माना


भारत में भी कई एजेंट सक्रिय, जो विजिट वीजा पर करवाते है हज यात्रा

रियाद : (सऊदी अरब) मुस्लिम धर्म की सबसे बड़ी और मान्यता वाली यात्रा सऊदी अरब में इस हफ्ते हज यात्रा शुरू होनी है। कोरोना महामारी के बाद शुरू हो रही इस यात्रा को लेकर खाड़ी देश ने पहले ही कह दिया था कि बिना परमिट वाले हाजियों को गिरफ्तार कर जुर्माना लगाया जाएगा। अब सऊदी ने बिना परमिट वाले हाजियों पर जुर्माना लगाना शुरू कर दिया है। सऊदी अधिकारियों ने बिना परमिट के हज करने की कोशिश करते हुए लगभग 300 लोगों को गिरफ्तार किया है।

एक अधिकारी ने बिना परमिट हज करने वालों की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। इन सभी पर जुर्माना लगाया गया है। हज सुरक्षा के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल मोहम्मद अल-बसामी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘288 नागरिकों और निवासियों को हज नियमों का उल्लंघन करने पर गिरफ्तार किया गया है।’ उन्होंने यह भी कहा कि नियम उल्लंघन करने पर उनमें से प्रत्येक पर 10 हजार सऊदी रियाल लगभग 2 लाख 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

10 लाख लोगों को हज का वीजा

बसामी ने कहा कि इस तरह के मामले सामने आने के बाद इस्लाम के सबसे पवित्र शहर मक्का के चारों ओर सुरक्षा घेरा भी सख्त कर दिया गया है। यहीं पर ग्रैंड मस्जिद स्थित है। लगभग 1 लाख लोगों और 69,000 से ज्यादा वाहनों को प्रवेश से रोक दिया गया है। इस साल हज यात्रा में सिर्फ 10 लाख लोगों को शामिल होने की इजाजत दी गई है। इनमें से 850,000 लोग विदेशी नागरिक हैं।

कोरोना से पहले 25 लाख लोग यात्रा में हुए थे शामिल

बता दें कि कोरोना के कारण पिछले दो साल से हज यात्रा रुकी हुई थी। 10 लाख की संख्या कोरोना से पहले की संख्या से बहुत कम है। कोरोना वायरस महामारी से पहले 2019 में 25 लाख लोग हज यात्रा में शामिल हुए थे। हालांकि पिछले साल हज यात्रा में सिर्फ 60 हजार पूर्ण वैक्सीनेटेड साऊदी नागरिकों को शामिल होने की इजाजत दी गई थी। रविवार को हज यात्रा में शामिल होने के लिए 650,000 लोग शामिल हुए।

भारत में भी एजेंट सक्रिय, विजिट वीजा पर भेज देते हैं हज यात्री

हज के महीने में इस पवित्र यात्रा के लिए हर मुस्लिम समाज का व्यक्ति उत्साहित रहता है कि उसे भी हज पर जाने का मौका मिले। जिसके लिए वह हर संभव प्रयास करता है। कई बार तो देखा गया है कि एजेंटों के द्वारा भेजे जाने वाले यात्री मुसीबत में भी फंस जाते हैं। हज पर जाने वाले यात्रियों को सरकार की ओर से वीजा परमिट दिया जाता है जो वेध रहता है। लेकिन रुपया कमाने की लालच तथा मोटी रकम ऐठने के लिए कई एजेंट विजिट विजा पर भी हज यात्रियों को हज के लिए भेज देते हैं परिणाम स्वरूप उन्हें या तो सऊदी एयरपोर्ट पर उतरते ही पकड़ लिया जाता है, अगर वह बच भी गए तो हज एवं उमराह करते समय धरपकड़ की जाती है, ऐसे में सऊदी सरकार इन यात्रियों पर जुर्माना भी ठोकती है साथ ही गिरफ्तार भी किया जाता है। हज यात्री जल्द वीजा मिलने और कम खर्च की लालच में आकर एजेंटों के जाल में फंस जाते हैं परंतु सऊदी जाने के बाद परेशानी झेलना पड़ती है। पिछले वर्ष भी ऐसे ही एजेंट सहारनपुर यूपी के रहने वाले मेहताब कारी और उसके साथियों द्वारा मध्यप्रदेश के देवास, धरमपुरी और अन्य जिलों के यात्रियों को विजिट विजा पर हज की यात्रा करने भेज दिया गया था। जिसके बाद उन्हें कई तकलीफों का सामना करना पड़ा, यहां तक कि कई यात्रियों को दिल्ली एयरपोर्ट से ही आगे नहीं जाने दिया और जो जाने में कामयाब हुए थे उन्हें सऊदी सरकार द्वारा काफी प्रताड़ित किया गया था चुकी हज पर जाने के लिए हज वीजा जरूरी होता है लेकिन जालसाज लोग और मोटी रकम ऐंठने वाले एजेंट बड़ी चालाकी से हज यात्रियों को लालच देकर विजिट विजा पर बिना परमिट के हज पर भेज देते हैं जिनका परिणाम घातक होते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button