Breaking News

ब्रिटिश की महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय का निधन : 21 अप्रैल 1926 से 08 सितंबर 2022 तक रहा सफर।


नई दिल्ली : ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का निधन। वह बीते कई दिनो से बीमार थी। उनकी उम्र 96 साल की रही। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय फिलहाल स्टॉकलैंड के बाल्मोरल कैसल में थीं, वहीं पर उन्होने अंतिम सांसे ली।

ब्रिटिश की महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय का जन्म: 21 अप्रैल 1926, मृत्यु: 08 सितंबर 2022)। यह यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैण्ड, जमैका, बारबाडोस, बहामास, ग्रेनेडा, पापुआ न्यू गिनी, सोलोमन द्वीपसमूह, तुवालू, सन्त लूसिया, सन्त विन्सेण्ट और ग्रेनाडाइन्स, बेलीज़, अण्टीगुआ और बारबूडा और सन्त किट्स और नेविस की महारानी थी। इसके अतिरिक्त वह राष्ट्रमण्डल के 54 राष्ट्रों और राज्यक्षेत्रों की प्रमुख थी और ब्रिटिश साम्राज्ञी के रूप में, वह अंग्रेज़ी चर्च की सर्वोच्च राज्यपाल भी, साथ ही राष्ट्रमण्डल के सोलह स्वतन्त्र सम्प्रभु देशों की संवैधानिक महारानी थी।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ब्रिटेन की सबसे लंबे वक्त तक शासन करने वाली शासक रहीं। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के बाद अब उनके बेटे चार्ल्स (उम्र 73 साल) ब्रिटेन के राजा होंगे।

आज गुरुवार को उनकी तबीयत नाजुक होने की बात सामने आई थी तब से वह डॉक्टर्स की देखरेख में थीं। महारानी की तबीयत बिगड़ते ही शाही परिवार के लोग स्कॉटलैंड पहुंचने लगे थे। यहां महारानी बाल्मोरल कैसल में थीं, यहां एलिजाबेथ समर ब्रेक में आई थीं।

https://twitter.com/narendramodi/status/1567931985661927424?t=l6dSx0wz2oyQm95oDcnuBQ&s=19

प्राप्त जानकारी के अनुसार महारानी की दिक्कत से जूझ रही थी। इसमें उनको खड़े होने और चलने में परेशानी होती थी, महारानी एलिजाबेथ-II, इस वर्ष कोरोना से भी ग्रस्त रह चुकी है।तब उनको हल्की सर्दी जैसे लक्षण थे।

21 अप्रैल 1926 को क्वीन एलिजाबेथ का जन्म हुआ था, उस वक्त ब्रिटेन में किंग जॉर्ज पंचम का राज था। एलिजाबेथ के पिता किंग जॉर्ज छह भी बाद में ब्रिटेन के राजा बने थे। क्वीन एलिज़ाबेथ का पूरा नाम एलिजाबेथ एलेक्जेंडरा मैरी विंडसर था।



पीएम मोदी ने जताया दुख।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर पीएम नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा कि महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को हमारे समय की एक दिग्गज के रूप में याद किया जाएगा। उन्होंने सार्वजनिक जीवन में गरिमा और शालीनता का परिचय दिया। उनके निधन से आहत हूं। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और ब्रिटेन के लोगों के साथ हैं।

पीएम मोदी ने महारानी के साथ वाली अपनी मुलाकात का भी जिक्र किया, मोदी ने लिखा कि 2015 और 2018 में यूके की अपनी यात्राओं के दौरान मेरी महारानी एलिजाबेथ-2 के साथ यादगार मुलाकातें हुईं। मैं उनकी गर्मजोशी और दयालुता को नहीं भूलूंगा। एक बैठक के दौरान उन्होंने मुझे वह रूमाल दिखाया जो महात्मा गांधी ने उन्हें उनकी शादी में उपहार में दिया था। मैं इसको हमेशा रखूंगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button