Breaking News

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा के लिए कांग्रेस का सर्वे कार्य शुरू, स्क्रीनिंग कमेटी के उमंग सिंगार भी हिमाचल में सक्रिय

शिमला : (हि.प्र.) हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की राज्य चुनाव कमेटी की ओर से तैयार किए पैनल से प्रत्याशी तय करने के लिए सर्वे किया जा रहा है। एक सर्वे कांग्रेस हाईकमान खुद करवा रहा है। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की राज्य चुनाव कमेटी की ओर से तैयार किए पैनल से प्रत्याशी तय करने के लिए अब सर्वे भी शुरू हो गया है। एक सर्वे कांग्रेस हाईकमान खुद करवा रहा है। दूसरा सर्वे स्वतंत्र एजेंसी के माध्यम से करवाकर जनता की नब्ज टटोलने का काम शुरू हो गया है। प्रदेश के 68 विधानसभा क्षेत्रों में से 33 में राज्य चुनाव कमेटी ने दो से सात लोगों के पैनल बनाए हैं। सर्वे में टॉप करने वाले नेताओं को ही विधानसभा चुनाव में टिकट दिए जाएंगे। वर्तमान विधायकों, राष्ट्रीय सचिवों सहित 35 नेताओं को टिकट देने के लिए चुनाव कमेटी ने एक-एक नाम भेजे हैं।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि जरूरी नहीं है कि पैनल में भेजे गए नामों में से ही प्रत्याशियों का चयन होगा। कांग्रेस और स्वतंत्र एजेंसी के सर्वे को देखने के बाद ही हाईकमान विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों को तय करेगा। राज्य चुनाव कमेटी की ओर से भेजे गए पैनल को बदला भी जा सकता है। इसी माह सर्वे को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। सर्वे करने वाली टीमों ने प्रदेश के कई क्षेत्रों में काम शुरू कर दिया है। जनता से चर्चा करने के बाद ये टीमें अपनी रिपोर्ट तैयार कर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को सौंपेंगी। सर्वे रिपोर्ट और पैनल का मेल करने के बाद पार्टी की ओर से प्रत्याशियों के चयन के लिए आखिरी फैसला लिया जाएगा।

स्क्रीनिंग कमेटी के मेंबर उमंग सिंगार द्वारा भी किए जा रहे दौरे

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव, मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री और विधायक उमंग सिंगार को भी स्क्रीनिंग कमेटी मेंबर के रूप में हिमाचल प्रदेश की बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है, उनके साथ राजस्थान के धीरज गुर्जर और बंगाल की दीपा दासमुंशी भी शामिल है। उमंग सिंगार द्वारा पिछले सप्ताह से प्रदेश में पर्यवेक्षक के रुप में सर्वे का कार्य किया जा रहा है। वह लगातार स्थाई कांग्रेस नेताओं से मिलकर योजनाबद्ध तरीके से चुनाव की रणनीति बना रहे हैं। इस दौरान वह शिमला के मुख्यालय तथा अलग-अलग विधानसभाओं में भ्रमण कर कार्यकर्ताओं से मिल रहे हैं। वहीं प्रदेश के कांग्रेस नेताओं द्वारा श्री सिंगार का जगह-जगह स्वागत और सम्मान भी किया जा रहा है। आपको बता दें कि हिमाचल प्रदेश में इस बार चारमुखी चुनाव देखने को मिलेंगे, क्योंकि कांग्रेसी-बीजेपी के अलावा पड़ोसी राज्य पंजाब में Aap की सरकार आने के बाद हिमाचल में भी सक्रियता दिख रही है, इसके साथ ही स्थानीय पार्टी देवभूमि भी अपना जोर आजमाइश कर रही है ऐसे हालात में बहुमत के साथ पार्टी को विजय बनाने के लिए कड़ी कशमकश देखने को मिलेगी। इसी दृष्टिकोण से श्री सिंगार द्वारा हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए सही और योग्य कैंडिडेट का चयन करने की प्रक्रिया की जा रही है। इस दौरान शुभम अजमेरा, स्वतंत्र जोशी भी साथ रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button