Breaking News

थाना प्रभारी, एसडीएम के अंगरक्षक सहित अन्य पुलिसकर्मी निलंबित, मुख्य आरोपी सुखराम की तलाश जारी : एसपी आदित्य प्रताप सिंह

धार : (मप्र.) बीते दिनों धार जिले के कुक्षी में एसडीएम नवजीवन पवार को मुखबिर से सूचना मिली थी कि शराब से भरा ट्रक मध्यप्रदेश से गुजरात की ओर निकलने वाला है, तकरीबन सुबह 4 बजे एसडीएम, नायब तहसीलदार ने ट्रक का पीछा किया। पीछा करने के दौरान अवैध शराब से भरा ट्रक (एमपी 69 एच 0112) रोका गया था। जिस पर शराब माफियाओं ने एसडीएम नवजीवन पंवार व नायब तहसीलदार राजेश भिड़े के साथ मारपीट की थी और वही मौके से माफियाओं के गुर्गे नायब तहसीलदार का अपहरण कर ले गए थे। उक्त मामले में भाजपा के कुछ नेताओं के नाम भी सामने आ रहे थे।



उक्त ट्रक में तकरीबन ₹53 लाख रुपए की शराब भरी हुई थी जिसे एसडीएम ने जप्त किया था। इस मामले में पुलिस ने 5 लोगो को आरोपी बनाया था, इसमें 1 व्यक्ति की गिरफ्तारी हो चुकी थी, वही 4 आरोपी फरार है, इस मामले में प्रशासन द्वारा आरोपी के अवैध मकान को भी गिराया गया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक द्वारा SIT गठित की गई थी, जिसके द्वारा बीते दिन 10 नए आरोपी चिन्हित किये है, इस तरह इस प्रकरण में आरोपियों की संख्या 15 हो गयी है। प्रशासन की टीम ने बीते दिन ग्राम हल्दी स्थित ढाबे को भी बुलडोजर द्वारा गिराया गया। इस दौरान मौके पर भारी पुलिस बल मौजूद रहा।



पुलिस अधिक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने मामले की गंभीरता को देखते हुए कुक्षी थाना प्रभारी सीबी सिंह व चौकी प्रभारी को निलंबित कर दिया है वही एसडीएम के अंगरक्षक को भी निलम्बित कर दिया गया है, क्योंकि एसडीएम के अंगरक्षक ने शासकीय हथियार होते हुए भी अधिकारी के बचाव में नहीं चलाया, जिससे एसडीएम की जान पर खतरा बना। लिहाजा 34 वी बटालियन के जवान को निलंबित कर दिया गया है अब उसका मुख्यालय 34 वीं बटालियन धार रहेगा पुलिस ने 10 और आरोपियों को इस मामले में चिन्हित किया है जल्द ही पुलिस इनकी भी गिरफ्तारी करेगी मुख्य अभियुक्त सुखराम की तलाश के लिए गुजरात व अन्य जिलों में अलग-अलग टीमें भेजी गई है पुलिस सतत प्रयास कर रही है।

अवैध शराब परिवहन का मास्टरमाइंड सुखराम कनेश घटना के बाद से फरार है। सुखराम व उसके साथियों को पकडऩे के लिए एसपी श्री सिंह ने 10-10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के गठित की गई एसआइटी में कुक्षी एसडीओपी दिलीप सिंह बिलवाल, मनावर एसडीओपी धीरज बब्बर, बाग टीआइ रणजीत सिंह बघेल, मनावर टीआइ नीरज बिरथरे, निसरपुर चौकी प्रभारी जगदीश नीनामा, डही चौकी प्रभारी प्रकाश सरोदे को शामिल किया है। साथ ही साइबर सेल व क्राइम ब्रांच से डीएसपी नीलेश्वरी डावर व प्रभारी त्रिलोक सिंह बैस को भी टीम में लिया था।



पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने कहा..

पुलिस प्रशासन और पुलिस की टीम के द्वारा अलीराजपुर रोड पर ढाबे को जहां पर यह घटना हुई थी प्रथम दृष्ट्या जो सूचना आई थी अवैधानिक गतिविधियों की इस तरह के क्रिमिनल्स को संरक्षण देने की, रुकने की, सूचना थी मद्देनजर शासकीय जमीन पर बने हुए ढाबे को पुलिस और प्रशासन की टीम ने तोड़ दिया। इस प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए कुक्षी थाना प्रभारी व चौकी प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है वही मुख्य आरोपी सुखराम की तलाश पुलिस आसपास के जिलों में वह गुजरात में सरगर्मी से कर रही है, इस प्रकरण में 10 और आरोपियों को चिन्हित किया गया है जल्द ही वेरीफाई कर सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा, साथ ही टीम द्वारा सतत प्रयास चल रहा है कि आरोपी को पकड़ा जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button