Breaking News

सऊदी अरब में मिला सोने और तांबे का भंडार, माइनिंग सेक्टर में अधिक निवेश बढ़ने की उम्मीद

मुस्लिमों के सबसे बड़े और पवित्र तीर्थ स्थल सऊदी अरेबिया में सोने और तांबे के नए भंडार मिलने की खबर सामने आई है। सऊदी सरकार को इससे बहुत फायदा होगा, क्योंकि नए सोने के भंडार मिलने से अंतरराष्ट्रीय और देश के निवेशक अधिक आकर्षित होंगे।

जिससे माइनिंग सेक्टर में अधिक निवेश बढ़ने की उम्मीद है। सऊदी अरब के भूवैज्ञानिक सर्वे विभाग ने नए सोने और तांबे के अयस्क स्थलों की खोज की घोषणा की है। सऊदी अरब के जिन इलाकों में स्वर्ण अयस्क के स्थल मिले हैं, वे मदीना के अबा अल-राहा उम्म अल-बराक शील्ड, हिजाज में हैं। बराक शील्ड में सोने के अयस्क की कमी थी।

रिपोर्ट के मुताबिक सऊदी अरब में सोने और तांबे के अयस्क भंडार का पता लगने से स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को आकर्षित करने की उम्मीद है। इस खोज से करीब 4000 नई नौकरियां भी सृजित होने की उम्मीद है। विश्लेषकों का कहना है कि इस नई खोज से सऊदी अरब में खनन की नई संभावनाएं पैदा होंगी। साथ ही इस क्षेत्र में निवेश के अधिक अवसर भी खुलेंगे।

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के विजन 2030 को मिलेगा सपोर्ट

नए सोने और तांबे के भंडार की खोज से सऊदी सरकार के माइनिंग सेक्टर को मजबूती मिलेगी। जो क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के विजन 2030 को सपोर्ट मिलेगा। वर्ष 2030 तक सऊदी अरब की आर्थिक निर्भरता को तेल से स्थानांतरित कर विभिन्न चीजों पर ले जाने का प्लान है। ज्ञात हो कि सऊदी अरब सोने के सबसे बड़े धारक के रूप में दुनिया में 18वें स्थान पर है और भंडार के मामले में सबसे ऊपर है। खासकर अरब देशों में। ऐसे में सोने और तांबे के नए भंडार मिलने से जाहिर तौर पर भविष्य में सऊदी सरकार को फायदा होगा। न केवल स्थानीय बल्कि अन्य देशों के निवेशक भी आकर्षित होंगे और आने वाले समय में अच्छा निवेश देखने को मिलेगा।

पिछले महीने जुलाई में, सऊदी सरकार में उद्योग और खनिज संसाधन मंत्री खालिद अल मुदेफर ने कहा था कि पिछले साल अकेले सऊदी अरब ने माइनिंग इंडस्ट्री में विदेशी निवेश में 8 बिलियन डॉलर का निवेश किया था। मंत्री के मुताबिक खनन के लिए निवेश को बढ़ावा देने के लिए कानून पारित होने के बाद विदेशी निवेश में बढ़ोतरी देखी गई। मालूम हो कि साल 2022 की शुरुआत में खाड़ी देश सऊदी अरब ने कहा था कि इस दशक के अंत तक सऊदी अरब माइनिंग के क्षेत्र में आ जाएगा। 170 अरब डॉलर के निवेश की उम्मीद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button